M.ED Full Form क्या है? कैसे करें, फीस, सब्जेक्ट्स, टॉप कॉलेज, योग्यता की जानकारी

M.Ed Full Form in Hindi : भारत में शिक्षा का लेवल प्रतिदिन हमें बढ़ते हुए ही दिखाई दे रहा है और इसी प्रकार से यहां के शिक्षकों का भी स्कोप बढ़ता जा रहा है। लेकिन शिक्षक बनने के लिए किसी भी विद्यार्थी के पास कुछ ऐसे शैक्षणिक योग्यता होनी चाहिए जिससे वह एक सफल शिक्षक बन सके। भारत में अगर आपको शिक्षक बनना है तो उसके लिए आपको B.Ed जिसे हम बैचलर आफ एजुकेशन भी बोलते हैं और M.Ed जिसे हम मास्टर ऑफ एजुकेशन बोलते हैं वह करना जरूरी है।

आज के इस आर्टिकल में हम यह बात करेंगे कि med ka full form क्या होता है? एमएड क्या है? m.ed course details in hindi, और इसकी फीस, योग्यता और अच्छे कॉलेजेस कौन-कौन से हैं? इत्यादि तो चलिए शुरू करते हैं बिना किसी देर के..

M.Ed Course Details in Hindi

M.Ed एक ऐसी पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री है जिसे करने के लिए सबसे पहले आपको अपना ग्रेजुएशन पूरा करना पड़ेगा। यह कोर्स 2 साल यानी कि 4 सेमेस्टर में पूरा किया जाता है। इस कोर्स के अंदर सभी छात्रों को शिक्षकों के द्वारा एजुकेशन के अंदर आने वाली नई-नई तकनीकी और डेवलपमेंट के बारे में जानकारी दी जाती है।

इसको करने के लिए आपका B.Ed पास करना बहुत अनिवार्य है क्योंकि यह एक ऐसा मास्टर डिग्री कोर्स है जिसको बिना किसी बैचलर डिग्री कोर्स के किए बिना पूरा नहीं किया जा सकता। शिक्षकों की दुनिया में बीएड और M Ed जैसे कोर्स बहुत ज्यादा फेमस है। यह कोर्स वैसे ही छात्र करते हैं जो अपना करियर पूरी तरीके से शिक्षा के क्षेत्र में सेट करना चाहते हैं। अब आइए देखते हैं की MEd को हिंदी में क्या बोलते हैं?

M.ED Full Form in Hindi क्या होता है ?

M ed full form in education मास्टर ऑफ़ एजूकेशन (Master of Education) होता है। इस कोर्स को पूरा करके आप एजुकेशन के क्षेत्र में मास्टर की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं। इस कोर्स को वहीं छात्र सबसे ज्यादा प्रेफर करते हैं जिनको भविष्य में एजुकेशन की दुनिया में कुछ हासिल करना होता है। इस एक मास्टर डिग्री कोर्स को पूरा करने के बाद विद्यार्थी शिक्षक जैसी नौकरी सरकारी सेवा में भी पा सकता है।

M.Ed Full Form in Hindi
M.Ed Full Form in Hindi

M.ED Course का संक्षिप्त विवरण

कोर्स का नामएम.एड
M.ED FULL FORM क्या है?Master of Education
कोर्स की अवधि2 वर्ष
परीक्षा का प्रकारसेमेस्टर
लेख की श्रेणीफुल फॉर्म
लेख का नामM.ED Full Form क्या है? कैसे करें, फीस, सब्जेक्ट्स, टॉप कॉलेज, योग्यता की जानकारी
कोर्स का स्तरपोस्ट ग्रेजुएट
शैक्षिक योग्यता10+2, बीएड
कोर्स की फीस₹50 हजार – 1 लाख
औसत सैलरी5 से 7 लाख वार्षिक

एमएड करने के लिए आवश्यक योग्यता (Qualification) क्या है?

M.ED करने के लिए आपके पास योग्यता का होना काफी ज्यादा आवश्यक है। यह कोर्स आप तभी कर सकते हैं जब आपने इसकी आवश्यक योग्यता पूरी कर ली हो। तो आइए हम जानते हैं कि इस कोर्स को करने के लिए क्या-क्या इलीगिबिली क्राईटेरिया हैं-

  • अभ्यार्थी को सबसे पहले 12 पास करना होता है और उसमें अच्छे नंबर लाने होते हैं।
  • 12वीं के बाद आपको ग्रेजुएशन डिग्री पूरा करना है और ग्रेजुएशन आपको किसी भी कोर्स में पूरा करना होता है। आप ग्रेजुएशन में अपने मन पसंदीदा किसी भी सब्जेक्ट को ले सकते हैं। इसमें आपको यहां पर कोई भी बाधा नहीं आती है।
  • जैसे ही आपका ग्रेजुएशन कोर्स पूरा हो जाता है वैसे ही आपको B.Ed करना होता है जिसे हम बैचलर आफ एजुकेशन भी कहते हैं।
  • बीएड करने के बाद आप एमएड करने के लिए एलिजिबल हो जाते हैं परंतु बीएड में आपके मार्क्स 55% से कम नहीं होने चाहिए।

एम एड का क्या फायदा है?

जैसा हम जान चुके हैं कि एम.एड. (M.ED Full Form) यानी Master of Education एक पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री है जो शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त करने के लिए दिलाई जाती है। यह कई तरह के फायदे प्रदान कर सकता है, जैसे कि:

  1. शिक्षा में विशेषज्ञता: यह आपको शिक्षा के क्षेत्र में विशेषज्ञ बनने का अवसर देता है, जिससे आपकी शिक्षा प्रक्रिया को समर्थन और मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है।
  2. शिक्षा के प्रणाली में सुधार: आपके पास एम.एड. डिग्री होने से, आप शिक्षा प्रणाली में सुधार करने और नई शिक्षा तकनीकों को अपनाने की क्षमता हासिल कर सकते हैं।
  3. शिक्षक प्रशिक्षण: एम.एड. की डिग्री के साथ, आप शिक्षक प्रशिक्षण प्रोग्राम में शामिल होने का अवसर प्राप्त कर सकते हैं, जो शिक्षकों की कौशल और ज्ञान को बढ़ावा देता है।
  4. अध्ययन और अनुसंधान: एम.एड. की डिग्री से, आप शिक्षा के क्षेत्र में अध्ययन और अनुसंधान करने का मौका प्राप्त कर सकते हैं, जिससे शिक्षा में नई दिशाएं खोजने का अवसर मिलता है।
  5. करियर के अवसर: एम.एड. की डिग्री से, आपके पास शिक्षा के कई क्षेत्रों में करियर के अवसर खुल सकते हैं, जैसे कि विद्यालयों, कॉलेजों, शिक्षा संगठनों, और शिक्षा निगमों में।

इन तरह के फायदों के साथ, एम.एड. शिक्षा क्षेत्र में आपके पेशेवर विकास की समर्थता को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है।

Master of Education कोर्स के अंदर आपको किसमें स्पेशलाइजेशन मिल सकती है?

कई सारे विद्यार्थी जो MEd Full Form में एडमिशन ले चुके होते हैं उनको अपना सब्जेक्ट चूज करने में कई सारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। हमने आपको यहां पर आपके सब्जेक्ट की लिस्ट दे रखी हैं और यहां आप आसानी से उसको सेलेक्ट कर सकते हैं-

  • हिंदी (Hindi)
  • संस्क्रति (Sanskrit)
  • अंग्रेजी (English)
  • अर्थशास्त्र (Economics)
  • इतिहास (History)
  • सामाजिक अध्यन (Social studies)
  • भूगोल (Geography)
  • नागरिक शास्त्र (Civics)
  • जीव विज्ञान (Biology)
  • सामान्य विज्ञान (General science)
  • रसायन विज्ञान (Chemistry)
  • भौतिक विज्ञान (Physics)
  • गणित (Math)
  • वितीय लेखांकन (Financial accounting)
  • व्यवसाय संगठन (Business organization)

M.ED Fee Details | एमएड की फीस कितनी होती है?

कई सारे लोगों का यह सवाल होता है कि आखिर एम एड की फीस कितनी होती है? लेकिन इस सवाल का जवाब आपको अलग-अलग मिल जाएगा। क्योंकि हम सभी जानते हैं कि किसी भी कोर्स की फीस उसके यूनिवर्सिटी और कॉलेज पर डिपेंड करती है।

अगर आप किसी गवर्नमेंट कॉलेज से M.Ed कर रहे हैं तो औसतन आप की फीस ₹20,000 से लेकर ₹30,000 के बीच में होती है। परंतु यहां एडमिशन लेने के लिए आपको एंट्रेंस एग्जाम देना पड़ता है। वहीं अगर आप किसी प्राइवेट कॉलेज की बात करते हैं तो वहां पर आपकी फीस ₹50,000 से लेकर ₹1,00,000 के बीच में होती है। प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन लेने के लिए आप यहां एंट्रेंस एग्जाम देने भी नहीं होते हैं।

एम एड करने के बाद कौन-सी नौकरी कर सकते हैं?

एम एड करने के बाद आपके करियर के कई सारे विकल्प खुल जाते हैं। आपके पास कई सारे करियर ऑप्शन होते हैं आप जिसको सेलेक्ट कर सकते हैं। उन सभी करियर ऑप्शन के लिए हमने आपको यहां पर दे रखे हैं-

  • विद्यालय प्राचार्य
  • पर्यवेक्षक
  • शोधकर्ता
  • स्कूल अध्यापक
  • फ्री लांसर
  • शैक्षिक उद्यमी
  • शिक्षा देनेवाला
  • पाठ्यचर्या विकासकर्ता
  • शैक्षिक योजनाकार और प्रशासक इत्यादि।

M. ED के बाद कितनी सैलरी मिलती

मास्टर ऑफ़ एजुकेशन (M.ED Full Form) करने के बाद आपके पास कई सारे करियर ऑप्शन खुल जाते हैं। इसके साथ-साथ आपकी सैलरी भी काफी बढ़ जाती है। जैसे ही आपका मास्टर ऑफ़ एजुकेशन का कोर्स पूरा होता है आप अच्छी पोस्ट के लिए आवेदन कर सकते हैं जहां आपकी सैलरी 5-6 लाख प्रति वर्ष तक हो जाती है।

M Ed Top Entrance Exam

अच्छे कॉलेज से एम एड करने में आपको कई सारे एंट्रेंस एग्जाम देने पड़ेंगे। अगर आप किसी सरकारी कॉलेज में एडमिशन चाहते हैं तो कई सारी यूनिवर्सिटी अपने एंट्रेंस एग्जाम खुद कंडक्ट कराती हैं और आप उनके फॉर्म भर कर वहां एग्जाम दे सकते हैं। उन सभी एंट्रेंस एग्जाम के लिस्ट हमने यहां आपको दे रखे हैं-

  • दिल्ली विश्वविद्यालय एम एड प्रवेश परीक्षा
  • डॉ. अम्बेडकर मुक्त विश्वविद्यालय एम.एड प्रवेश परीक्षा
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय एमएड प्रवेश परीक्षा
  • पंजाब यूनिवर्सिटी एम.एड प्रवेश परीक्षा
  • केरल विश्वविद्यालय एम.एड प्रवेश परीक्षा
  • कालीकट विश्वविद्यालय एम.एड प्रवेश परीक्षा
  • कुरूक्षेत्र विश्वविद्यालय एम.एड प्रवेश परीक्षा
  • एम.जे.पी. रोहिलखंड विश्वविद्यालय प्रवेश परीक्षा
  • पटना विश्वविद्यालय एम.एड प्रवेश परीक्षा
  • चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय, मेरठ एम.एड प्रवेश परीक्षा
  • महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय रोहतक एमएड प्रवेश परीक्षा
  • गुरु गोबिंद सिंह इंद्रप्रस्थ विश्वविद्यालय एमएड प्रवेश परीक्षा

M.ED Top Universities in India

भारत की ऐसी कई सारी यूनिवर्सिटीज है जो टॉप रैंकिंग में आती है और बच्चों को काफी अच्छा खासा प्लेसमेंट देती है यहां के कुछ यूनिवर्सिटीज के नाम हमने आपको यहां पर दे रखे हैं

  • दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
  • यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ एजुकेशन
  • बैंगलोर विश्वविद्यालय
  • बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
  • अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय

M.ED Full Form से जुड़े प्रश्न

M.ED FULL FORM क्या होता है?

एम एड का फुल फॉर्म मास्टर ऑफ एजुकेशन होता है।

M.ED कोर्स कितने साल का होता है?

M.Ed 2 साल की एक पोस्ट ग्रैजुएट डिग्री है जो 4 सेमेस्टर में बैठी होती है।

एम एड करने के लिए भारत के अंदर मशहूर टॉप यूनिवर्सिटीज कौन-कौन सी हैं?

एम एड करने के लिए भारत के अंदर मशहूर टॉप यूनिवर्सिटीज कई सारी हैं। इन सभी के नाम हमने आपको एक लिस्ट में यहां दे रखे हैं-
1- दिल्ली विश्वविद्यालय, नई दिल्ली
2- यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ एजुकेशन
3- बैंगलोर विश्वविद्यालय
4- बनारस हिंदू विश्वविद्यालय
5- अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय

M.Ed करने के बाद कितनी सैलरी मिलती है?

जैसे ही आप एमएड करते हैं वैसे ही आपके पास करियर ऑप्शंस कई सारे खुल जाते हैं। इसके बाद आपको आसानी से ₹500000 से लेकर ₹600000 तक की सैलरी आसानी से मिल जाएगी।

एम एड के बाद क्या मैं पढ़ा सकता हूं?

एमएड पूरा करने के बाद आप देश के प्रतिष्ठित संस्थानों और कॉलेजों में शिक्षक या व्याख्याता या सहायक प्रोफेसर या शिक्षाविद या अधिकारी के रूप में कार्य कर सकते हैं।

क्या मुझे मेड के बाद नौकरी मिल सकती है?

जी, हाँ

क्या मैं बिना ग्रेजुएशन के बेड कर सकता हूं?

जी नहीं, आप बिना ग्रेजुएशन के बीएड नहीं कर सकते हैं। हालाँकि आप कई सारे इंटीग्रेटेड कोर्स कर सकते हैं जिसमें आपको अलग से ग्रेजुएशन की आवश्यकता नहीं होती है।

आशा है कि मेरे द्वारा M.ED Full Form क्या है? कैसे करें, फीस, सब्जेक्ट्स, टॉप कॉलेज, योग्यता के बारे में दी गई जानकारी आपको पसंद आई होगी ऐसे ही लेटेस्ट सरकारी जॉब, सरकारी योजनाअपकमिंग जॉब्स की अपडेट पाने के लिए कैरियर बनाओ Careerbanao.net को जरूर बुकमार्क करें।

Leave a Comment